chunav manch delhi 2020
  1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. भारत
  4. राष्ट्रीय
  5. उइगर मुसलमानों पर सख्ती? चीन ने कहा- धर्म के आधार पर कार्रवाई नहीं, आतंकवाद से निपटने में असरदार हैं केंद्र

उइगर मुसलमानों पर सख्ती? चीनी राजदूत ने कहा- धर्म के आधार पर कार्रवाई नहीं, आतंकवाद से निपटने में असरदार हैं कैंप

शिनजियांग में मुसलमानों की दशा पर विश्व के नए सिरे से ध्यान केन्द्रित करने के मद्देनजर चीन ने कहा है कि वहां धर्म के आधार पर कोई कार्रवाई नहीं की गई है।

Bhasha Bhasha
Updated on: December 16, 2019 9:38 IST
Uyghur Muslims, Vocational training centres, Vocational training centres China- India TV
Vocational training centres in Xinjiang effective in containing terrorism, says China | AP

नई दिल्ली: शिनजियांग में मुसलमानों की दशा पर विश्व के नए सिरे से ध्यान केन्द्रित करने के मद्देनजर चीन ने कहा है कि वहां धर्म के आधार पर कोई कार्रवाई नहीं की गई है। उन्होने कहा कि प्रांत में खोले गए व्यावसायिक प्रशिक्षण केंद्रों का उद्देश्य आतंकवाद, चरमपंथ और कट्टरपंथ का मुकाबला करना है। चीनी राजदूत सुन वीदोंग ने कहा कि शिनजियांग 1990 के दशक से आतंकवाद और धार्मिक चरमपंथ का शिकार रहा है और प्रशिक्षण केंद्रों की स्थापना जैसे आतंकवाद रोधी कदमों के कारण पिछले 3 वर्षों में क्षेत्र में आतंकवादी गतिविधियों में उल्लेखनीय कमी आई है।

दरअसल, इस तरह की खबरें आई हैं कि चीनी अधिकारी शिनजियांग में बिना मुकदमा चलाए हिरासत केंद्रों में हजारों मुस्लिमों को रखे हुए हैं। जब उनसे इस बारे में पूछा गया तो वीदोंग ने दावा किया कि शिनजियांग में कोई हिरासत केंद्र नहीं है और व्यावसायिक शिक्षा एवं प्रशिक्षण केंद्र आतंकवाद और धार्मिक चरमपंथ का खात्मा करने के उद्देश्य से कानून के प्रावधानों के अनुसार स्थापित किये गये है। उन्होंने कहा, ‘आतंकवाद का मुकाबला करने के लिए एहतियाती कदम के तहत व्यावसायिक शिक्षा और प्रशक्षिण केंद्रों ने उल्लेखनीय उपलब्धियां हासिल की हैं।’

वीदोंग ने कहा, ‘शिनजियांग में हिंसक आतंकवादी घटनाओं में उल्लेखनीय कमी आई है। पिछले तीन वर्षों में शिनजियांग में एक भी हिंसक आतंकी मामला सामने नहीं आया है।’ उन्होंने कहा कि क्षेत्र में अब आर्थिक विकास, सामाजिक स्थिरता, जातीय एकता और धार्मिक सद्भाव की अच्छी स्थिति है। उन्होंने कहा कि शिनजियांग में सभी जातीय समूहों के ढाई करोड़ लोगों ने प्रशिक्षण केन्द्रों के रुख का समर्थन किया है। उन्होंने कहा कि व्यावसायिक शैक्षणिक केंद्रों ने आतंकवाद और चरमपंथ से निपटने के अंतरराष्ट्रीय प्रयासों के लिए उपयोगी अनुभव और सफल उदाहरण उपलब्ध कराये है। 

वीदोंग ने कहा, ‘शिनजियांग में मस्जिदों की संख्या सुधार के शुरुआती वर्षों में बढ़कर 2,000 से अधिक हो गई और आज यह 24,400 तक पहुंच गई है। प्रत्येक 530 मुसलमानों के लिए औसतन एक मस्जिद है, और लिपिक कर्मचारियों की संख्या 3,000 से बढ़कर 29,000 से अधिक हो गई है।’ उन्होंने कहा कि 2018 के अंत से चीन में विदेशी दूतों समेत एक हजार से अधिक लोगों, अंतरराष्ट्रीय संगठनों के प्रतिनिधियों और मीडिया ने शिनजियांग का दौरा किया और आतंकवाद तथा कट्टरता का मुकाबला करने में ‘उपलब्धियों’ को देखा।

India TV पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। National News in Hindi के लिए क्लिक करें भारत सेक्‍शन
chunav manch
Write a comment
chunav manch
bigg-boss-13