1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. विदेश
  4. अमेरिका
  5. अमेरिका ने रूस, चीन और पाकिस्तान को ‘विशेष चिंता’ वाले देशों की लिस्ट में डाला

अमेरिका ने रूस, चीन और पाकिस्तान को ‘विशेष चिंता’ वाले देशों की लिस्ट में डाला

अमेरिकी विदेश मंत्रालय के मुताबिक इन देशों में लगातार सिलसिलेवार ढंग से धार्मिक स्वतंत्रता के अधिकार पर हमला किया जा रहा है।

IndiaTV Hindi Desk IndiaTV Hindi Desk
Published on: November 17, 2021 23:38 IST
Russia Religious Freedom Blacklist, China, Pakistan Religious Freedom Blacklist- India TV Hindi
Image Source : AP अमेरिका ने पाकिस्तान, चीन सहित कुल 10 देशों को ‘विशेष चिंता’ वाले देशों की लिस्ट में डाला है।

Highlights

  • अमेरिका ने पाकिस्तान, चीन, म्यांमार और सऊदी अरब सहित कुल 10 देशों को लिस्ट में डाला है।
  • अमेरिका का कहना है कि लिस्ट में शामिल देशों में धार्मिक स्वतंत्रता का घोर उल्लंघन होता है।
  • लिस्ट में चीन का नाम होने से दोनों देशों के बीच जारी खटास और बढ़ सकती है।

वॉशिंगटन: अमेरिका ने पाकिस्तान, चीन, म्यांमार और सऊदी अरब सहित कुल 10 देशों को धार्मिक स्वतंत्रता के गंभीर उल्लंघन में लिप्त होने या 'विशेष चिंता' वाले देशों के रूप में नामित किया है। अमेरिका विदेश मंत्री एंटनी ब्लिंकन ने एक बयान में कहा क‍ि बायडेन प्रशासन प्रत्येक व्यक्ति के धर्म या मान्यताओं की स्वतंत्रता के अधिकार का समर्थन करने के लिए प्रतिबद्ध है, जिसमें इन मानव अधिकारों के उल्लंघनकर्ताओं और दुर्व्यवहारियों का सामना करना और उनका मुकाबला करना शामिल है।

अमेरिकी विदेश मंत्रालय के मुताबिक इन देशों में लगातार सिलसिलेवार ढंग से धार्मिक स्वतंत्रता के अधिकार पर हमला किया जा रहा है। ब्लिंकन के बयान में कहा गया, 'मैं चीन, पाकिस्तान, म्यांमार, इरीट्रिया, ईरान, डेमोक्रेटिक पीपुल्स रिपब्लिक ऑफ कोरिया, रूस, सऊदी अरब, ताजिकिस्तान और तुर्कमेनिस्तान को 'विशेष चिंता' वाले देशों के रूप में नामित करता हूं, जोकि धार्मिक स्वतंत्रता के गंभीर उल्लंघन के रूप में चिन्हित किया जाता है।'

इस लिस्ट में चीन का नाम होने से दोनों देशों के बीच जारी खटास और बढ़ सकती है। चीन के राष्ट्रपति शी जिनफिंग और उनके अमेरिकी समकक्ष जो बायडन ने मानवाधिकार, व्यापार, ताइवान और हिंद-प्रशांत जैसे मुद्दों पर परस्पर बढ़ते तनाव को दूर करने के लिए मंगलवार को ऑनलाइन बैठक की थी। हालांकि माना जा रहा है कि इस लिस्ट में नाम आने से बाकी के दूसरे देशों के अलावा चीन से भी कड़ा विरोध देखने को मिल सकता है।

bigg boss 15