Thursday, February 22, 2024
Advertisement

भारत कनाडा विवाद: अब ट्रूडो पर बिफरे भारतीय-कनाडाई कारोबारी, पीएम के आरोपों पर दिया करारा जवाब

भारत कनाडा विवाद के बीच कनाडाई पीएम जस्टिन ट्रूडो को अपने देश में ही गैर जिम्मेदाराना बयानों के लिए विरोध का सामना करना पड़ रहा है। भारतीय कनाडाई कारोबारियों ने ट्रूडो पर अपना गुस्सा उतारा है। साथ ही उनके बयान को गैर जिम्मेदाराना बताया है।

Deepak Vyas Written By: Deepak Vyas @deepakvyas9826
Updated on: September 28, 2023 16:59 IST
भारत कनाडा विवाद: अब ट्रूडो पर बिफरे भारतीय-कनाडाई कारोबारी- India TV Hindi
Image Source : FILE भारत कनाडा विवाद: अब ट्रूडो पर बिफरे भारतीय-कनाडाई कारोबारी

India-Canada: भारत और कनाडा में राजनयिक विवाद के बीच कनाडा के पीएम जस्टिन ट्रूडो को अपने ही देश में सुनना पड़ रहा है। कभी उनकी ही सत्तारूढ़ पार्टी के नेता उनके खिलाफ बोल रहे हैं। तो कभी कनाडा के भारतवंशी कारोबारियों के गुस्से का सामना भी ट्रूडो को करना पड़ा है। कनाडा के पीएम ने आतंकी हरदीप सिंह निज्जर की हत्या के मामले में बिना किसी साक्ष्य के भारत सरकार पर आरोप मढ़ दिया था। जिसका भारत ने जोरदार खंडन किया था। इस मामले में अब ट्रूडो को अपने ही देश के भारतीय कनाडाई कारोबारियों के गुस्से से भरे बयानों को सुनने पर मजबूर होना पड़ रहा है। 

कनाडा में रह रहे भारतीय प्रवासियों ने निज्जर की हत्या पर कनाडाई प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडो के भारत पर लगाए आरोपों की निंदा की है। साथ ही इन आरोपों को गैर-जिम्मेदराना करार दिया और कहा कि हिंदू-सिख समुदाय प्रभावित न हो इसलिए दोबारा बयान दे सकते थे।  कनाडा के प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडो के बयान को भारतीय-कनाडाई व्यवसायी रवि श्मा ने गैर-जिम्मेदराना करार दिया। उन्होंने कहा,  'कनाडाई संसद में प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडो द्वारा किया गया घोषणा कुछ ऐसा था जिसे आसानी से नजरअंदाज किया जा सकता था।'

'ट्रूडो का बयान था गैरजिम्मेदाराना'

खलिस्तानी आतंकी निज्जर की हत्या पर भारत पर लगाए गए आरोपो का जवाब देते हुए उन्होंने कहा, 'जब यह घोषणा की गई, तब कनाडा में रहने वाला हिंदू समुदाय सतर्क था। इस घोषणा ने तत्काल प्रभाव पैदा कर दिया, जिससे लोगों को लगा कि वे संकट में हैं। वह डर गए थे, क्योंकि जो घोषणा संसद में की गई उससे यही लग रहा था कि भारत सरकार ने निज्जर की हत्या करवाई थी, जो सच नहीं था। सच कुछ और है। कनाडा में हिंदू और सिख शांति से रहते हैं और प्रधानमंत्री ट्रूडो द्वारा जारी बयान में जो कहा गया वह बहुत गैर-जिम्मेदराना था।'

कनाडाई सरकार सबूत दे

भारतीय कनाडाई व्यवसायियों  ने कनाडा सरकार पर निशाना साधते हुए उन्हें सबूत दिखाने की मांग की है। व्यवसायी रवि शर्मा के अलावा भारती-कनाडाई गीता भदोरिया ने कहा कि उन्हें लगता है कि भारत और कनाडा सरकार को मीडिया के माध्यम से नहीं बोलना चाहिए। उन्होंने कहा, 'भारत और कनाडा सरकार को जो भी करना है, उन्हें वह मीडिया के माध्यम से नहीं बताना चाहिए। उन्हें अपने प्रवक्ता के माध्यम से बात करनी चाहिए। सभी जनकारियों को बाहर लाना चाहिए, क्योंकि मुझे ऐसा लगता है कि जब चीजें  एक बंद कमरे में होती है तो जनता अपने ही चुने हुए सरकार के लिए संदिग्ध हो जाती है और फिर उनका भरोसा टूटने लगता है।' 

Also Read: 

अमेरिकी दूतावास का कारनामा, भारतीयों को जारी किए 10 लाख से ज्यादा वीजा, 2019 से 20 फीसदी अधिक

वीजा लेकर प्लेन से विदेश जा रहे पाकिस्तानी भिखारी, परेशान हैं सऊदी अरब जैसे मुल्क, दे रहे चेतावनी

Latest World News

India TV पर हिंदी में ब्रेकिंग न्यूज़ Hindi News देश-विदेश की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ें और अपने आप को रखें अप-टू-डेट। US News in Hindi के लिए क्लिक करें विदेश सेक्‍शन

Advertisement
Advertisement
Advertisement