गर्दन, कमर, कंधे और घुटनों का दर्द बन सकता है स्ट्रोक का खतरा, स्वामी रामदेव से जानिए हार्ट अटैक से बचने का तरीका

गाउट से हार्ट अटैक और ब्रेन हेमरेज ही नहीं कई बार लंग्स में इन्फेक्शन का भी डर रहता है। गठिया का रोग हार्ट-ब्रेन और लंग्स पर कैसे अफेक्ट करता है ।

Sweety Gaur Written By: Sweety Gaur @sweety_gaur
Published on: August 09, 2022 8:57 IST
Swami Ramdev- India TV Hindi News
Image Source : TWITTER Swami Ramdev

Highlights

  • घुटनों के जोड़ में होने वाला दर्द बन सकता है हार्ट अटैक और स्ट्रोक का खतरा
  • गठिया की बीमारी होने की सबसे बड़ी वजह है यूरिक एसिड का बढ़ना।

इंसान का शरीर किसी अजूबे से कम नहीं है। उपरवाले की इस कारीगरी को जितना समझो उतनी हैरानी होती है। दुनिया के बेहतरीन साइंटिस्ट्स ह्यूमन बॉडी पर या उससे जुड़ी बीमारियों पर स्टडी करते रहते है और हर रिसर्च एक नया खुलासा करती है। अब नॉटिंघम और कील यूनिवर्सिटी की ताज़ा रिसर्च को ही लीजिए इस स्टडी में ये बात सामने आई है कि गर्दन, कमर, कंधे और घुटनों के जोड़ में होने वाला दर्द हार्ट अटैक और स्ट्रोक का खतरा बढ़ा देता है। 

इतना ही नहीं रिपोर्ट में ये भी पाया गया है कि गाउट से हार्ट अटैक और ब्रेन हेमरेज ही नहीं कई बार लंग्स में इन्फेक्शन का भी डर रहता है। गठिया का रोग हार्ट-ब्रेन और लंग्स पर कैसे अफेक्ट करता है । ये जानने के लिए पहले ये समझिए कि आर्थराइटिस होता कैसे है। गठिया की बीमारी होने की सबसे बड़ी वजह है यूरिक एसिड का बढ़ना। क्योंकि बढ़ा हुआ यूरिक एसिड क्रिस्टल बनकर जोड़ों में जमा होने लगता है। जिससे ज्वॉइंट्स जाम हो जाते है और स्वेलिंग के साथ दर्द बढ़ने लगता है।

ताज़ा रिसर्च के मुताबिक यूरिक एसिड के यही क्रिस्टल दिल और दिमाग में ब्लड सप्लाई रोक देते हैं। जिससे हार्ट अटैक और स्ट्रोक की नौबत भी आ सकती है। फिर तो इस मौसम में आर्थराइटिस के मरीज़ों को ज़्यादा सावधान रहने की ज़रूरत है। क्योंकि बरसात में वात दोष बढ़ जाता है जो जोडो के दर्द को ट्रिगर करता है और उठना बैठना भी मुश्किल हो जाता है। यानि बारिश का ये सुहाना मौसम इस वक्त देश के उन 18 करोड़ से ज़्यादा लोगों के लिए आफत है जो ज्वाइंट्स पेन के शिकार हैं।

Health Tips: क्या है ब्रेकफास्ट करने का सही समय? ये तरीका अपनाएंगे तो वजन आसानी से होगा कंट्रोल

सभी लोगों को अपने रुटीन में बस थोड़ा बदलाव करना है। रोज़ सुबह इंडिया टीवी लगाना है और स्वामी रामदेव के साथ 40 मिनट योग करना है। क्योंकि योग से ना सिर्फ आर्थराइटिस से मुक्ति मिलेगी और हड्डियों में मज़बूती के साथ शरीर में एनर्जी फुल रहेगी। 

आर्थराइटिस कैसे होता है 

  • यूरिक एसिड बढ़ने से दिक्कत
  • बढ़ा यूरिक एसिड क्रिस्टल में बदलता है
  • क्रिस्टल जोड़ों में जमा होता है
  • ज्वाइंट्स जाम होने लगते हैं

गठिया का रोग होने की क्या हैं वजह 

  • खराब लाइफस्टाइल
  • गलत खानपान
  • बढ़ा हुआ वज़न 
  • मिनरल्स की कमी
  • विटामिन की कमी 
  • हॉर्मोन्स इम्बैलेंस

Jamun Leaves for Diabetes: डायबिटीज में संजीवनी बूटी की तरह काम करती हैं जामुन की पत्तियां, ऐसे होता है काबू में शुगर

आर्थराइटिस के क्या हैं लक्षण 

  • ज्वाइंट्स पेन-अकड़न
  • घुटनों में सूजन
  • हड्डियों का टूटना
  • स्किन लाल होना

हड्डियां मजबूत कैसे बनेंगी ? 

  • खाने में कैल्शियम बढ़ाएं
  • 1 कप दूध जरूर पीएं  
  • सेब का सिरका पीएं
  • गुनगुने पानी में दालचीनी-शहद पीएं

Coconut Benefits: सेहत के लिए बेहद गुणकारी है सूखा नारियल, कई समस्याएं भी करेगा दूर

 

गठिया दर्द में मिलेगा आराम

  • गुनगुने सरसों के तेल की मालिश करें 
  • दर्द की जगह गर्म पट्टी बांधें 
  • गुनगुने पानी-सेंधा नमक मिलाकर सिकाई करें 

 

Latest Health News

navratri-2022