1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. भारत
  4. राजनीति
  5. स्पीकर ने समझाया लेकिन नहीं थमा संसद में गतिरोध, सत्तापक्ष और विपक्ष में नोकझोंक

स्पीकर ने समझाया लेकिन नहीं थमा संसद में गतिरोध, सत्तापक्ष और विपक्ष में नोकझोंक

गुरुवार को फिर से संसद की कार्रवाई जब शुरू हुई तो लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला ने सत्तापक्ष और विपक्ष के सांसदों को समझाया और सभी सांसदों से संसद की गरिमा को बनाए रखने की अपील की, लेकिन इसके बावजूद हंगामा कम नहीं हुआ...

IndiaTV Hindi Desk IndiaTV Hindi Desk
Published on: July 29, 2021 11:29 IST
om birla- India TV Hindi
Image Source : PTI स्पीकर ने समझाया लेकिन नहीं थमा संसद में गतिरोध, सत्तापक्ष और विपक्ष में नोकझोंक

नई दिल्ली: बुधवार को विपक्षी सांसदों द्वारा लोकसभा चेयर पर कागज फेंकने की घटना के बाद आज गुरुवार को फिर से संसद की कार्रवाई जब शुरू हुई तो लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला ने सत्तापक्ष और विपक्ष के सांसदों को समझाया और सभी सांसदों से संसद की गरिमा को बनाए रखने की अपील की, लेकिन इसके बावजूद हंगामा कम नहीं हुआ और लोकसभा अध्यक्ष को फिर से 11.30 बजे तक कार्रवाई स्थगित करनी पड़ी। कार्रवाई के दौरान विपक्ष की तरफ से जवाब रखने के लिए कांग्रेस नेता अधीर रंजन चौधरी उठे लेकिन उन्होंने अपनी बात में गुरुवार की घटना का जिक्र नहीं किया, स्पीकर ने उन्हें गुरुवार की घटना का जिक्र करने के लिए कहा भी, साथ में सत्तापक्ष की तरफ से केंद्रीय मंत्री प्रल्हाद जोशी ने भी अधीर रंजन चौधरी को बुधवार की घटना पर सफाई देने के लिए और चेयर से माफी मांगने के लिए कहा। इस दौरान हंगामा बढ़ा और स्पीकर को कार्रवाई स्थगित करनी पड़ी।

कार्रवाई शुरू होते ही लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला ने बुधवार की घटना का जिक्र करते हुए कहा, "आसन की अवमानना करना हमारी संसदीय परंपराओं के अनुरूप नहीं है, हम संसद की गरिमा का ध्यान नहीं रखेंगे तो हमारा लोकतंत्र कैसे मजबूत होगा, मेरी कोशिश होती है कि सभी सदस्यों को अपने विषय रखने का पर्याप्त समय और अवसर दूं और उनको यथोचित सम्मान भी दूं, उनका सम्मान भी रहे यह मेरी जिम्मेदारी है। क्या आप कल की घटना को संसदीय गरिमा के अनुरूप मानते हैं, क्या इसे न्यायोजित मानते हैं। हम इसे लोकतंत्र का मंदिर मानते हैं और हम सबका विश्वास रहता है कि आसन सबके साथ न्याय करेगा। अगर कभी आसन पर कोई प्रश्न हो तो आप चेंबर में आकर कहें, मैं कोशिश करूंगा कि आसन की गरिमा को बनाने के लिए आपके सुझाव मानूं। लेकिन हम सबको सामूहिक रूप से निर्णय करना होगा कि कैसे लोकतंत्र की गरिमा को बढ़ा सकते हैं।"

लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला ने सदस्यों को संबोधित करते हुए आगे कहा, "आप एक व्यक्ति नहीं बल्कि एक संस्था हैं और लाखों लोगों का प्रतिनिधित्व करते हैं, आपसे आग्रह है कि अगर आप उचित समझते हैं तो किस तरह मिलकर इस सदन की गरिमा को बढ़ा सकते हैं इसका सामूहिक प्रयास करना चाहिए। लगातार कई सदस्य घटनाओं की पुनरावृति कर रहे हैं, मैं ऐसे सदस्यों से आग्रह करता हूं कि ऐसी घटनाओं ने दोहराएं जो संसद की मर्यादा के अनुरूप नहीं है। अगर ऐसी घटनाएं दोहराई जाएंगी तो संसद की मर्यादा को बनाए रखने के लिए ऐसे सदस्यों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करनी पड़ेगी।"

लोकसभा अध्यक्ष के बाद कांग्रेस नेता अधीर रंजन चौधरी बोलने के लिए खड़े हुए तो उन्होंने कहा कि, चेयर की गरिमा को बनाए रखने के लिए सारे विपक्षी दल शुरू के दिन से सहयोग कर रहे हैं, इसी के बदौलत संसद की प्रोडक्टिविटी बढ़ी है। अधीर रंजन चौधरी ने सत्तापक्ष पर जिद्द करने का आरोप लगाया, इसपर स्पीकर ने उन्हें टोका कि आप कल की घटना के बारे में बताएं।

Click Mania
Modi Us Visit 2021