Monday, July 22, 2024
Advertisement

पाकिस्तान की आर्मी पर 'गरीबी' की मार, खाने के पड़े लाले, सैलरी पर भी सरकार डालेगी 'डाका'!

पाकिस्तान की गरीब अवाम को खाने को रोटी नसीब नहीं हो पा रही है। जिंदगी जीना मुहाल हो गया है। कंगाली की इस हालत का बुरा असर पाकिस्तान की सेना पर भी पड़ा है। पाक आर्मी के पास खाने पीने के सामान की कमी आ गई है।

Written By: Deepak Vyas @deepakvyas9826
Updated on: March 05, 2023 23:49 IST
पाकिस्तान की आर्मी पर 'गरीबी' की मार- India TV Hindi
Image Source : AP FILE पाकिस्तान की आर्मी पर 'गरीबी' की मार

Pakistan News: पाकिस्तान कर्ज के भंवर में फंस गया है। 'गंदी' राजनीति ने इस देश की माली हालात का बेड़ा गर्क कर दिया है। पाकिस्तान की गरीब अवाम को खाने को रोटी नसीबी नहीं हो पा रही है। जिंदगी जीना मुहाल हो गया है। कंगाली की इस हालत का बुरा असर पाकिस्तान की सेना पर भी पड़ा है। पाक आर्मी के पास खाने पीने के सामान की कमी आ गई है। स्थिति अब रसद और आवश्यक आपूर्ति तक पहुंच गई है। कई रिपोर्ट्स के मुताबिक डीजी-मिलिट्री ऑपरेशंस (DGMO) ने इस बात की चेतावनी भेजी है कि सेना गंभीर-आपूर्ति का सामना कर रही है। इसके अलावा DGMO ने सीमावर्ती इलाकों में होने वाली ऑपरेशनल चुनौतियों का संकेत भी दिया। 

IMF से एक अरब डॉलर के कर्ज की उम्मीद

पाकिस्तान के केंद्रीय बैंक के मुताबिक, प्रमुख चिंता कर्जों को वापस लौटाना है, जो केंद्रीय बजट का आधा है। IMF ने कहा है कि नए सिरे से बेलआउट पैकेज की बातचीत में भी पाकिस्तान के कर्जों को नजरअंदाज नहीं किया जा सकेगा। दरअसल, पाकिस्तान को IMF से एक अरब डॉलर के कर्ज की उम्मीद है। बिगड़ते आर्थिक संकट के बीच भी पाकिस्तान ने IMF की कई शर्तों को माना है, जिसने स्थिति को और भी ज्यादा खराब किया है। 

सरकार ने दिया पाक सेना की सैलरी में कटौती का प्रस्ताव 

रिपोर्ट्स के मुताबिक पैसा बचाने के लिए सरकारी कर्मचारियों के वेतन में कटौती की गई है। विदेश में मौजूद पाकिस्तान के मिशनों की संख्या कम की जाएगी और संभव है कि कर्मचारियों की छंटनी भी की जाए। पाकिस्तानी सेना की सैलरी में कटौती का भी प्रस्ताव सरकार ने दिया है। हालांकि आज जो आर्थिक संकट है उसमें सेना का भी हाथ है, जिसने देश को अंदर से खोखला किया। 

130 अरब डॉलर तक पहुंच गई देनदारियां

पाकिस्तान में मौजूद आर्थिक संकट के कारण अब उसका बाहरी कर्ज और देनदारियां लगभग 130 अरब डॉलर तक पहुंच गई हैं। ये उसकी जीडीपी का 95.39 फीसदी है। ताजा आंकड़ों के अनुसार पाकिस्तान में मुद्रास्फीति 50 साल के अपने उच्चतम स्तर पर है, जो वर्तमान में 27.6 फीसदी है। जबकि जनवरी 2023 में महंगाई 42.9 फीसदी पहुंच गई, जो पिछले साल 12.8 फीसदी थी। इससे देश गंभीर आर्थिक संकट में पहुंच गया है। लगातार बढ़ रही महंगाई को देखते हुए पाकिस्तान के केंद्रीय बैंक ने ब्याज दर बढ़ा दी है।

पाक के केंद्रीय बैंक के ब्याज दर बढ़ाने के बाद भी नहीं सुधर रहे हालात

लेकिन इन सब उपायों के बाद भी पाकिस्तान के हालात सुधरते नहीं दिख रहे हैं। आर्थिक संकट का असर पाकिस्तान की सेना पर दिखने लगा है। रिपोर्ट्स के मुताबिक वरिष्ठ सैन्य कमांडर्स ने क्वाटर मास्टर जनरल के ऑफिस को सैनिकों के खाद्य आपूर्ति में गंभीर कटौती करने को कहा है। 2022-23 में पाकिस्तान का कुल रक्षा बजट 7.5 बिलियन डॉलर है। आंकड़ों के मुताबिक पाकिस्तान का विदेशी मुद्रा भंडार भी गिर कर 3.2 अरब डॉलर पहुंच गया है। गिरते हुए विकास दर के कारण अब सरकार के लिए अपने सैन्य दायित्वों को पूरा करना एक चुनौती बन गया है।

Also Read:

पाकिस्तान की आर्मी पर 'गरीबी' की मार, खाने के पड़े लाले, सैलरी पर भी सरकार डालेगी 'डाका'!

इस्लाम के खिलाफ नहीं है योग, दुनिया को मैसेज दे रहा यह बड़ा मुस्लिम देश, विश्वविद्यालय में लगाएगा Yoga क्लास

रूस का यूक्रेन पर बड़ा हमला, बखमुत शहर पर कब्जे की तैयारी, यूक्रेनी सेना की मदद से घर छोड़कर भाग रहे लोग

Latest World News

India TV पर हिंदी में ब्रेकिंग न्यूज़ Hindi News देश-विदेश की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ें और अपने आप को रखें अप-टू-डेट। Asia News in Hindi के लिए क्लिक करें विदेश सेक्‍शन

Advertisement
Advertisement
Advertisement