Thursday, July 18, 2024
Advertisement

अमेरिकी सांसदों ने बाइडेन प्रशासन से की बड़ी मांग, कहा ‘डॉक्यूमेंटेड ड्रीमर्स’ की मदद करे सरकार

अमेरिका में ‘डॉक्यूमेंटेड ड्रीमर्स’ को वीजा से संबंधित सबसे मुश्किल हालातों का सामना करना पड़ता है। इसे लेकर अमेरिका सांसदों ने बाइडेन प्रशासन से तुरंत कदम उठाने का आग्रह किया है।

Edited By: Amit Mishra @AmitMishra64927
Updated on: June 14, 2024 14:25 IST
अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन - India TV Hindi
Image Source : AP अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन

वाशिंगटन: अमेरिका में दोनों पक्षों के 43 सांसदों ने जो बाइडेन प्रशासन से ढाई लाख से अधिक ‘डॉक्यूमेंटेड ड्रीमर्स’ के संरक्षण के लिए तत्काल कार्रवाई करने का आग्रह किया है, जिनमें बड़ी संख्या भारतीयों की हैं। ‘डॉक्यूमेंटेड ड्रीमर्स’ वह विदेशी नागरिक हैं जो अपने माता-पिता के अस्थायी, गैर-आप्रवासी वीजा, सामान्य तौर पर कामकाजी वीजा के तहत आश्रित के रूप में अमेरिका में आए है। ये लोग अपने माता-पिता के वीजा के माध्यम से प्राप्त अस्थायी कानूनी दर्जा समाप्त होने के बाद आत्म-निर्वासन के लिए मजबूर होंगे।

अमेरिका छोड़ने के अलावा कोई विकल्प नहीं

सांसदों ने गृह सुरक्षा मंत्री अलेजेंद्रो मायोर्कास और अमेरिकी नागरिकता तथा आव्रजन सेवा (यूएससीआईएस) के निदेशक डॉ एम जेडडोऊ को लिखे पत्र में कहा कि कानूनी दर्जे के साथ अमेरिका में बड़े होने के बावजूद, लंबी अवधि के वीजा धारकों के बच्चे जब 21 वर्ष के हो जाते हैं तो उनकी आश्रित की स्थिति समाप्त हो जाती है और यदि वो नया स्तर हासिल नहीं कर सकते तो अक्सर उनके पास अमेरिका छोड़ने के अलावा कोई विकल्प नहीं बचता है। पत्र में कहा गया है, ‘‘इसका कारण यह है कि, आंशिक रूप से, उनके परिवारों के दर्जे के समायोजन आवेदन व्यापक रूप से लंबित हैं और इस कारण उन्हें स्थायी निवासी का दर्जा हासिल करने में कठिनाई आ रही है।’’ 

सीनेटर एलेक्स पाडिला ने किया अभियान का नेतृत्व

बता दें कि, इस पूरे अभियान का नेतृत्व प्रवासन, नागरिकता और सीमा सुरक्षा पर सीनेट न्यायपालिका उपसमिति के अध्यक्ष सीनेटर एलेक्स पाडिला और प्रतिनिधि डेबोरा रॉस ने किया, जिन्होंने अमेरिका के बाल अधिनियम के माध्यम से 2,50,000 से अधिक ‘डॉक्यूमेंटेड ड्रीमर्स’ के संरक्षण के लिए द्विदलीय विधायी उपाय पेश किया है। (भाषा)

यह भी पढ़ें: US सुप्रीम कोर्ट का बड़ा फैसला, खारिज की गर्भपात की गोलियों पर प्रतिबंध लगाने की याचिक; जानें पूरा मामला

कुवैत अग्निकांड: 45 भारतीय नागरिकों के शवों की हुई पहचान, जानें किस वजह से भड़की थी भयानक आग

Latest World News

India TV पर हिंदी में ब्रेकिंग न्यूज़ Hindi News देश-विदेश की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ें और अपने आप को रखें अप-टू-डेट। US News in Hindi के लिए क्लिक करें विदेश सेक्‍शन

Advertisement
Advertisement
Advertisement