1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. भारत
  4. राष्ट्रीय
  5. नए साल से पहले जमने के करीब पहुंची दिल्ली, न्यूनतम तापमान 2.4 डिग्री सेल्सियस तक पहुंचा

नए साल से पहले जमने के करीब पहुंची दिल्ली, न्यूनतम तापमान 2.4 डिग्री सेल्सियस तक पहुंचा

दिल्ली में ठंड ने 118 सालों का रिकॉर्ड तोड़ दिया है। 1901 के बाद 2019 का दिसंबर का महीना सबसे सर्द महीना साबित हुआ और अब आज दिल्ली की ठंड ने नया रिकॉर्ड बना दिया है। आज सुबह पारा 2.4 डिग्री तक लुढ़क गया है।

IndiaTV Hindi Desk IndiaTV Hindi Desk
Updated on: December 28, 2019 6:57 IST
नए साल से पहले जमने के करीब पहुंची दिल्ली, न्यूनतम तापमान 3.6 डिग्री सेल्सियस तक पहुंचा- India TV Hindi
नए साल से पहले जमने के करीब पहुंची दिल्ली, न्यूनतम तापमान 3.6 डिग्री सेल्सियस तक पहुंचा

नई दिल्ली: दिल्ली में ठंड ने 118 सालों का रिकॉर्ड तोड़ दिया है। 1901 के बाद 2019 का दिसंबर का महीना सबसे सर्द महीना साबित हुआ और अब आज दिल्ली की ठंड ने नया रिकॉर्ड बना दिया है। आज सुबह पारा 2.4 डिग्री तक लुढ़क गया है। आज और कल यानी 28 और 29 दिसंबर को दिल्ली में कड़ाके की ठंड पड़ने वाली है। मतलब हालात में कोई सुधार नहीं होने वाला है। ठंड का सितम यही नही थमने वाला है क्योंकि आने वाला सप्ताह यानी नए साल के मौके पर दिल्लीवालों को सर्द हवाओं के साथ-साथ बारिश की बूंदों से भी दो-चार होना पड़ सकता है।

मौसम विभाग ने आशंका जाहिर की है कि 31 दिसंबर की रात से 2 जनवरी तक दिल्ली-एनसीआर में बूंदा-बांदी हो सकती है। यानी दिल्ली वालों को इस बार नए साल का जश्न बर्फीली, बारिश और चुभने वाली हवा के बीच सिकुड़ते हुए मनाना पड़ सकता है। दिल्ली के साथ-साथ इसके आसपास के शहरों नोएडा, गाजियाबाद, मेरठ और गुरुग्राम की हालत भी ठंड से खराब हो चली है।

आज नोएडा का न्यूनतम तापमान भी 4 डिग्री सेल्सियस के आसपास है। गाजियाबाद का न्यूनतम तापमान 4 डिग्री सेल्सियस, गुरुग्राम का न्यूनतम तापमान 3 डिग्री सेल्सियस और मेरठ का न्यूनतम तापमान 5 डिग्री सेल्सियस के आसपास है। मौसम विभाग की मानें तो सर्द हवाओं के सितम को दिल्ली एनसीआर के लोगों को अभी और सहना पड़ेगा।

राजस्थान में भी ठंड का जबरदस्त प्रभाव देखा जा रहा है। यहां शुक्रवार को माउंट आबू में तापमान ज़ीरो डिग्री को छू गया। आज सुबह जब लोग सोकर उठे तब सबकुछ जम गया था, पारा माइनस में था। हालांकि दोपहर बाद तापमान बढ़ा और इस समय 11 डिग्री पर है। माउंट आबू में ठंड का आलम ये था कि कार की छत हो या फिर सड़क या फिर पेड़ पौधों की पत्तियां, सब पर बर्फ जमीं थी।

हिमाचल प्रदेश के कुफ्री, मनाली, सोलन, भुंतर, सुंदरनगर और कल्पा में भी तापमान शून्य से नीचे पहुंच गया है जबकि केलांग शून्य से नीचे 15 डिग्री सेल्सियस तापमान के साथ सबसे ठंडा इलाका बना हुआ है। मौसम विभाग ने राज्य के मध्यम और ऊंचे पर्वतीय इलाकों में 31 दिसंबर से दो जनवरी के बीच बर्फबारी होने का अनुमान जताया है। शिमला मौसम केन्द्र के निदेशक मनमोहन सिंह ने कहा कि शुक्रवार को राज्य में मौसम शुष्क और ठंडा रहा। बीते 24 घंटे में न्यूनतम तापमान सामान्य से एक से दो डिग्री नीचे दर्ज किया गया।

कश्मीर में भी शीतलहर का प्रकोप जारी है और श्रीनगर में पारा शून्य से 5.6 डिग्री सेल्सियस नीचे जाने के साथ ही अब तक इस मौसम की सबसे ठंडी रात दर्ज की गई। मौसम विभाग के एक अधिकारी ने कहा कि समूचे कश्मीर और लदाख में शुक्रवार को न्यूनतम तापमान शून्य से कई डिग्री सेल्सियस नीचे दर्ज किया गया और आसमान साफ रहा। कश्मीर घाटी में सबसे ठंडा स्थान दक्षिणी कश्मीर के अनंतनाग जिले में स्थित पहलगाम रिसोर्ट रहा जहां रात का तापमान शून्य से 12 डिग्री सेल्सियस कम दर्ज किया गया।

कोरोना से जंग : Full Coverage

India TV पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। Live TV देखने के लिए यहां क्लिक करें। National News in Hindi के लिए क्लिक करें भारत सेक्‍शन
Write a comment
X