1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. लाइफस्टाइल
  4. फीचर
  5. Navratri Sprcial : 1906 से डे बाड़ी में होती आ रही है दुर्गा पूजा, जानिए इस पूजा की परंपरा के बारे में

Navratri Sprcial : 1906 से डे बाड़ी में होती आ रही है दुर्गा पूजा, जानिए इस पूजा की परंपरा के बारे में

देशभर में दुर्गा पूजा की धूम है। पश्चिम बंगाल में दुर्गा मां के सुंदर पंडालों को देखने के लिए लोगों की भीड़ इकट्ठा होती है। इस बार दुर्गा मां के पंडाल क्या संदेश दे रहे हैं..देखिए तस्वीरों में...

India TV Lifestyle Desk India TV Lifestyle Desk
Updated on: October 13, 2021 17:22 IST
durga puja- India TV Hindi
Image Source : SOURCE/ARNAB MITRA/INDIA TV दुर्गा पूजा 

दुर्गा मां के पर्व कहे जाने वाले महाउत्सव नवरात्र के दौरान पश्चिम बंगाल में छठा ही निराली होती है। इस बार हम आपको बता रहे हैं डे बाड़ी की सौ साल से भी ज्यादा पुरानी दुर्गा पूजा और उसका परंपरा के बारे में। इंडिया टीवी के अर्नब मित्रा ने दुर्गा पूजा के इन सुंदर पंडालों की झलक दिखलाई है।

क्यों जलेबी खाए बिना दशहरा पूरा नहीं होता? रस भरी इस मिठाई से है श्रीराम का संबंध

Durga puja pandal

Image Source : IMAGE SOURCE: ANI
दुर्गा पूजा पंडाल

डे बाड़ी की दुर्गा पूजा की शुरुआत 1906 में दीनानाथ डे ने की थी। वो पेशे से जमींदार थे। तब से लेकर अब तक ये परंपरा चली आ रही है। 

durga puja

Image Source : SOURCE/ARNAB MITRA/INDIA TV
दुर्गा पूजा 

people worshipping

Image Source : SOURCE/ARNAB MITRA/INDIA TV
मंदिर में पूजा करते हुए लोग

पूजा के लिए मां दुर्गा की सुंदर प्रतिमा बनाई जाती है। इस दौरान परिवार के सभी लोग एकसाथ इकट्ठा होकर आरती करते हैं।  

durga puja

Image Source : SOURCE/ARNAB MITRA/INDIA TV
दुर्गा पूजा 

peope worshipping

Image Source : SOURCE/ARNAB MITRA/INDIA TV
मंदिर में पूजा करते हुए लोग

बता दें कि इस बार दुर्गा पूजा पर एक से बढ़कर एक बेहतरीन पंडाल सजाए जा रहे हैं।

पश्चिम बंगाल की राजधानी कोलकाता के बीचों बीच दुबई के बुर्ज खलीफा की तर्ज पर बनाया गया 145 फीट का दुर्गा पूजा पंडाल लोगों के बीच आकर्षण का केंद्र बना हुआ है। हर तरह इसके बारे में खूब चर्चा हो रही है। इसके अलावा कुछ जगहों पर किसान आंदोलन और कोरोना के दौरान मजदूरों के पलायन को लेकर भी पंडाल बनाए गए हैं।  

durga puja pandal

Image Source : SOURCE:ANI
दुर्गा पूजा पंडाल

न्यूज एजेंसी ANI से बात करते हुए समिति के सदस्य ने बताया कि इस साल का विषय 'प्रकाश किरण' है जिसका अर्थ है 'सूर्य की किरणें'। यह विषय उन लोगों के जीवन के इर्द-गिर्द घूम रहा है, जिन्होंने 'अम्फान' और 'यस' चक्रवातों के दौरान कठिन परिस्थितियों से गुजरना पड़ा है। 

durga puja pandal

Image Source : SOURCE: ANI
दुर्गा पूजा पंडाल

तस्वीरों के जरिए ये दिखाने का प्रयास किया गया है कि तूफान में सबकुछ तबाह होने के बाद लोगों ने अपने गुजर-बसर के लिए किस तरह की चुनौतियों का समना किया है। उन्हें अपनी मूलभूत सुविधाओं के लिए किस कदर तरस जाना पड़ा है। 

 

पढ़ें अन्य संबंधित खबरें- 

पति की मौत के बाद माधवी ने नहीं मानी हार, उनका पेशा अपनाकर बनीं झारखंड की पहली महिला मूर्तिकार

Video: कोलकाता में 'बुर्ज खलीफा' का लीजिए आनंद, खूबसूरत पंडाल मोह लेगा आपका मन

'बंटवारे' के दर्द को दर्शाता है कोलकाता ये दुर्गा पंडाल, देखिए तस्वीरें

Click Mania
bigg boss 15