World Heart Day 2022: युवा भी हो रहे हैं हार्ट अटैक का शिकार, जानिए कैसे रखें दिल का ख्याल

World Heart Day 2022: हृदय रोग केवल बुजुर्गों में ही हो यह जरूरी नहीं है। हर उम्र के लोग इन रोगों से प्रभावित हो सकते हैं इसलिए दिल के स्वास्थ्य को ठीक रखने के लिए कुछ जरूरी टिप्स पर जरूर ध्यान दें।

Jyoti Jaiswal Written By: Jyoti Jaiswal @TheJyotiJaiswal
Updated on: September 28, 2022 18:47 IST
World Heart Day 2022- India TV Hindi
Image Source : FREEPIK World Heart Day 2022

World Heart Day 2022: लोगों की व्यस्त जीवनशैली के कारण खानपान और लाइफस्टाइल बिगड़ता जा रहा है जिसकी वजह से दिल से जुड़े रोग भी बढ़ रहे हैं। इस वजह से बुजुर्ग ही नहीं युवा भी इसकी चपेट में आ रहे हैं। इन्हीं सब बातों को ध्यान में रखते हुए, दिल संबंधी बीमारियों के प्रति लोगों को जागरूक करने के लिए हर साल 29 सितंबर को वर्ल्ड हार्ट डे मनाया जाता है। हाल ही में हमने कुछ सुपरस्टार की हार्ट के रोगों के कारण मृत्यु होते देखा है, इतना तो तय है कि हृदय रोगों के लिए जरूरी नहीं व्यक्ति बूढ़ा हो तब ही वह दिल संबंधी रोगों से ग्रस्त होगा, बल्कि किसी भी उम्र वर्ग के लोगों को हृदय रोग देखने को मिल सकते हैं, लेकिन हृदय रोगों के कुछ रिस्क फैक्टर हैं जैसे मोटापा, हाई ब्लड प्रेशर जो युवाओं में तेजी से बढ़ते देखे जा सकते हैं। कहीं न कहीं बुरी लाइफस्टाइल की आदत भी हृदय रोगों के करीब लेकर जा रही है।

Health Tips: पैर और शरीर का अक्सर सुन्न होना इस बीमारी की ओर करता है इशारा, समय रहते हो जाएं सावधान

पुणे के ज्यूपिटर हॉस्पिटल के मशहूर कार्डियोलॉजिस्ट डॉक्टर मंगेश दनेज से हमने बात की तो उन्होंने बताया कि दिल की बीमारियां केवल तीन ही फैक्टर्स पर निर्भर करती हैं जैसे हाई ब्लड प्रेशर, हाई कोलेस्ट्रॉल लेवल और धूम्रपान करना। इसलिए इन फैक्टर्स से खुद को बचाने की कोशिश करें।

नवरात्र में फास्टिंग करके कम करें 5 किलो वज़न, स्वामी रामदेव से जानिए इसका कारगर तरीका

युवाओं के हृदय की स्थिति

डॉक्टर दनेज के मुताबिक आजकल जवान लोगों में मोटापा, हाई ब्लड प्रेशर और हाई कोलेस्ट्रॉल लेवल की स्थिति ज्यादा देखने को मिलती है क्योंकि खान पान का ढंग ही काफी अन हेल्दी है। अधिकतर युवा केवल जंक फूड और बाहर की ज्यादा तेल में बनी चीजों को खाना ही पसंद करते हैं, जो उनके स्वास्थ्य के लिए काफी हानिकारक हो सकता है। इससे ही दिल की बीमारियों का रिस्क बढ़ता है और कम उम्र में हार्ट अटैक और हार्ट फेलियर के केस सामने आते है।

कैसे अपने दिल को फिट बना सकते हैं? 

धूम्रपान करना बंद कर दें

धूम्रपान करना फेफड़ों के लिए ही नहीं बल्कि दिल के लिए भी नुकसान दायक है। अगर धूम्रपान कर रहे हैं तो जितना हो सके इस आदत को छोड़ दें।

Vitamin D Deficiency: भूलकर भी न खाएं विटामिन डी की कमी में ये चीजें, आज ही बनाएं इनसे दूरी

अपनी शारीरिक स्थितियों को मैनेज करें

अगर लंबे समय से हाई ब्लड प्रेशर और कोलेस्ट्रोल या मोटापे जैसी स्थिति से जूझ रहे हैं तो, अपने डॉक्टर से बात करके इनको कम करने की कोशिश करें। जिससे दिल से जुड़ी बीमारियों का रिस्क कम हो सके। साथ ही दवाइयों का सेवन समय से करें।

दिल के लिए लाभदायक डाइट का सेवन करें 

डाइट में केवल उन चीजों को शामिल करें जिनसे दिल को लाभ मिल सके। जैसे ढेर सारी सब्जियां, फल, होल ग्रेन, बीन्स, नट और लो फैट डेयरी प्रोडक्ट्स का प्रयोग कर सकते हैं।

एक्सरसाइज करें, एक्टिव रहें

अगर एक्सरसाइज करते हैं या वैसे भी एक्टिव रहते हैं तो यह भी दिल के लिए काफी अच्छा है क्योंकि फिट हृदय के लिए शरीर का फिट होना भी जरूरी है, जिससे ज्यादा वजन के कारण दिल पर प्रेशर न पड़ सके।

दिल से जुड़ी बीमारियां कैसे प्रभावित हो रही हैं?

  1. आज का लाइफस्टाइल ही कम उम्र में बढ़ती बीमारियों का कारण बन गया है। आज के समय में जितनी भी बीमारियां हैं वह सारी एक दूसरे से जुड़ी हुई हैं और उनका सबका कारण इस बात पर भी निर्भर करता है कि व्यक्ति कैसी डाइट ले रहा है और कब ले रहा है या शारीरिक रूप से कितना एक्टिव है। डायबिटीज, मोटापा, ब्लड प्रेशर और भी बीमारियां इन्हीं फैक्टर्स के कारण ज्यादा देखने को मिलती हैं। इसलिए व्यक्ति अपने लाइफस्टाइल पर थोड़ा सा ध्यान दे कर खुद को पूरी तरह से फिट बना सकते हैं।
  2. मोटापा तो मानो आजकल बच्चों से लेकर बूढ़ों तक हर उम्र वर्ग में देखने को मिलता है। इसका कारण भी अन हेल्दी ईटिंग आदतें और आपका आलस ही है। इसलिए इसे पीछा छुड़ाने के लिए रोजाना लाइफस्टाइल में धीरे- धीरे बदलाव लाएं। जैसे जंक फूड खाना छोड़ दें, हर रोज कुछ समय के लिए वॉकिंग करें। जैसे-जैसे बॉडी अधिक एक्टिव होती जाए,  एक्सरसाइज की इंटेंसिटी लेवल को बढ़ा भी सकते हैं। ऐसा करना आपके स्वास्थ्य और आपके हृदय के लिए काफी फायदेमंद है।
  3. हृदय रोगों से बचने के लिए नमक और चीनी दोनों चीजों का सेवन लिमिट में करें। दरअसल अगर बीपी लेवल बढ़ेगा तो हार्ट को पंप करते समय ज्यादा जोर लगाना पड़ेगा। जो दिल की सेहत के लिए अच्छा नहीं।

(ये आर्टिकल डॉक्टर से बातचीत पर आधारित है)

Latest Health News

India TV पर हिंदी में ब्रेकिंग न्यूज़ Hindi News देश-विदेश की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ें और अपने आप को रखें अप-टू-डेट। News in Hindi के लिए क्लिक करें हेल्थ सेक्‍शन