1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. भारत
  4. उत्तर प्रदेश
  5. उत्तर प्रदेश चुनाव: मायावती ने जारी किया BSP का विशेष फोल्डर, मीडिया को लेकर जताई नाराजगी

उत्तर प्रदेश चुनाव: मायावती ने जारी किया BSP का विशेष फोल्डर, मीडिया को लेकर जताई नाराजगी

मायावती ने प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान मीडिया पर भी प्रहार किया। मायावती ने कहा कि हमारी सरकार ने क्या-क्या काम किए ये मीडिया सहित सभी लोगों को मालूम है लेकिन मीडिया दिखाता नहीं है। आप लोगों की अपनी मजबूरी है।

IndiaTV Hindi Desk IndiaTV Hindi Desk
Updated on: November 23, 2021 14:45 IST

Highlights

  • मायावती बोलीं- हम बोलने में कम, काम करने में ज्यादा विश्वास रखते हैं
  • उत्तर प्रदेश के हर गांव में बांटे जाएंगे बसपा के काम को बतलाने वाले फोल्डर
  • प्रदेश की 86 आरक्षित सीटों पर बसपा का विशेष जोर

लखनऊ. उत्तर प्रदेश चुनाव को लेकर बसपा प्रमुख मायावती ने आज राजधानी लखनऊ में प्रेस कॉन्फ्रेंस की। उन्होंने बताया कि बसपा का 86 सुरक्षित सीटों पर विशेष जोर रहेगा। इन सीटों के विधानसभा अध्यक्षों को लखनऊ बुलाया गया है। इनके साथ मायावती खुद चुनावी स्ट्रैटजी को लेकर काम करेंगी। 

मायावती ने इस दौरान बताया कि बसपा की सरकार में जो काम हुए, उनके बारे में बतलाने के लिए उनकी पार्टी ने एक फोल्डर बनाया है, जो सभी 403 विधानसभा सीटों के हर गांव-हर शहर में आम लोगों के बीच पहुंचाया जाएगा। मायावती ने कहा कि उनकी सरकार में हुए कामों को सपा और भाजपा अपना काम बता रही है। कांग्रेस औऱ अन्य सरकारों इतने कम समय में बसपा जितने काम नहीं किए हैं।

इस दौरान मायावती ने मीडिया पर भी जमकर प्रहार किए। मायावती ने कहा कि हमारी सरकार ने क्या-क्या काम किए ये मीडिया सहित सभी लोगों को मालूम है लेकिन मीडिया दिखाता नहीं है। आप लोगों की अपनी मजबूरी है। उन्होंने कि कितना दिखाना है बीएसपी को ये मैं समझ सकती हूं। आपकी अपनी मजबूरी है, हमारी भी अपनी मजबूरी है। जब हमें लगा कि आप हमारे कार्यों को दिखा नहीं रहे हैं तो हमें मजबूर होकर ये फोल्डर तैयार करना पड़ा है। ये जन-जन तक जाएगा।

बसपा प्रमुख ने सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी को किसानों के साथ मिल बैठकर उनकी समस्याओं का समाधान करने का सुझाव दिया और कहा कि केंद्र सरकार को इस मामले को ज्यादा नहीं लटकाना चाहिए। मायावती ने कहा, ''केंद्र सरकार ने तीन कृषि कानून तो वापस ले लिए हैं, लेकिन सरकार को किसान संगठनों के साथ बैठकर उनकी समस्याओं का समाधान करना चाहिए ताकि किसान खुशी-खुशी अपने घर वापस जाकर अपने काम में लग जाएं।''

bigg boss 15