1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. विदेश
  4. अन्य देश
  5. रूस में कोविड-19 से मरने वालों की दैनिक संख्या अब भी अधिक, 35,681 नए मामले सामने आए

रूस में कोविड-19 से मरने वालों की दैनिक संख्या अब भी अधिक, 35,681 नए मामले सामने आए

स्वास्थ्य विशेषज्ञों का कहना है कि टीकाकरण कम होने और एहतियात बरतने में जनता की लापरवाही के कारण संक्रमण और मौत के मामलों की संख्या में इजाफा देखने को मिल रहा है।

IndiaTV Hindi Desk IndiaTV Hindi Desk
Published on: November 22, 2021 18:58 IST
Russia's coronavirus deaths still hover near all-time highs- India TV Hindi
Image Source : AP रूस में कोविड-19 के 35,681 नए मामले सामने आए हैं और 1,241 मरीजों की मौत हो गई।

Highlights

  • रूस की 40 प्रतिशत से भी कम जनता को टीके की दोनों खुराक मिली है।
  • रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने रविवार को कहा कि उन्होंने स्पूतनिक लाइट की एक बूस्टर खुराक ली है।
  • क्रेमलिन ने स्थानीय अधिकारियों को स्थानीय स्थिति के आधार पर प्रतिबंध लगाने के अधिकार दिए हैं।

मॉस्को: रूस में कोविड-19 के 35,681 नए मामले सामने आए हैं और 1,241 मरीजों की मौत हो गई। देश में संक्रमण के मामलों में कमी जारी है लेकिन सोमवार को भी मौत का आंकड़ा रिकॉर्ड स्तर के आसपास रहा। देश के कोरोना वायरस कार्य बल ने 1,241 मरीजों की मौत दर्ज की, जो कि पिछले सप्ताह 1,254 मरीजों की मौत से कम है। वहीं 35,681 नए मामले सामने आए हैं। नवंबर की शुरुआत से ही मामलों में कमी आ रही है, जब दैनिक मामले 41,000 तक पहुंच गए थे, जो कि महामारी के दस्तक देने के बाद से सबसे अधिक संख्या थी। 

स्वास्थ्य विशेषज्ञों का कहना है कि कोविड टीकाकरण कम होने और एहतियात बरतने में जनता की लापरवाही के कारण संक्रमण और मौत के मामलों की संख्या में इजाफा देखने को मिल रहा है। रूस की 40 प्रतिशत से भी कम जनता को टीके की दोनों खुराक मिली है, वह भी तब जब देश ने घरेलू निर्मित स्पूतनिक वी टीके को दुनिया के ज्यादातर देशों की तुलना में महीनों पहले मंजूरी दे दी थी। 

रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने रविवार को कहा कि उन्होंने स्पूतनिक लाइट की एक बूस्टर खुराक ली है। इससे पहले वह वसंत ऋतु में एक खुराक वाला स्पूतनिक टीका ले चुके हैं। उन्होंने कहा कि वह बिल्कुल ठीक हैं और बूस्टर का कोई प्रतिकूल प्रभाव उन पर नहीं दिख रहा है। क्रेमलिन ने स्थानीय अधिकारियों को स्थानीय स्थिति के आधार पर प्रतिबंध लगाने के अधिकार दिए हैं। वहीं रूस के कई प्रांतों ने प्रतिबंध कड़े कर दिये हैं और सार्वजनिक जगहों पर उन्हीं लोगों को गतिविधियों की इजाजत दी जा रही है जो संक्रमित नहीं होने का प्रमाण या टीकाकरण का प्रमाण देते हैं।

bigg boss 15