1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. हेल्थ
  4. शरीर के लिए फायदेमंद होते हैं निर्जला व्रत लेकिन ये लोग रखने से बचें

शरीर के लिए फायदेमंद होते हैं निर्जला व्रत लेकिन ये लोग रखने से बचें

आमतौर पर व्रत रखना सेहत के लिए अच्छा होता है यह शरीर को डिटॉक्स करता है, मगर हर किसी के लिए व्रत रखना ठीक नहीं है। आइए जानते हैं ऐसे कौन से लोग हैं जिन्हें निर्जला व्रत रखने से डॉक्टर मना करते हैं।

India TV Health Desk India TV Health Desk
Updated on: September 09, 2021 21:53 IST
निर्जला व्रत रखने से बचें ये लोग- India TV Hindi
Image Source : INSTAGRAM/MINESH_MEHANDI_ARTIS निर्जला व्रत रखने से बचें ये लोग

हरितालिका तीज इस बार 9 सितंबर को मनाई जा रही है। इस दिन सुहागिन औरतें अपने पति की लंबी उम्र के लिए निर्जला व्रत रखकर माता पार्वती और भगवान शिव जी की आराधना करती हैं। ये व्रत कुंवारी लड़कियां भी अच्छे पति के लिए रखती हैं। ये व्रत आसान नहीं है क्योंकि पूरा दिन और पूरी रात आपको बिना कुछ खाए- पिए रखना होता है। अगले दिन सुबह पूजा के बाद ही महिलाएं कुछ खा सकती हैं। आमतौर पर व्रत रखना सेहत के लिए अच्छा होता है मगर हर किसी के लिए व्रत रखना ठीक नहीं है। आइए जानते हैं ऐसे कौन से लोग हैं जिन्हें निर्जला व्रत रखने से डॉक्टर मना करते हैं।

गर्भवती महिलाएं

अगर आप गर्भवती हैं तो आपको अपने पेट में पल रहे बच्चे का ख्याल भी रखना होता है, आप कुछ नहीं खाएंगी तो उसका विकास भी ठीक तरीके से नहीं हो पाएगा। गर्भवती महिलाओं को अपने स्वास्थ्य का अतिरिक्त ध्यान रखना होता है, ऐसे में अगर वो बिना कुछ खाए पिए व्रत रखेंगी तो उनके और उनके बच्चे की सेहत पर ये प्रतिकूल प्रभाव डाल सकता है। ऐसे में डॉक्टर बिल्कुल खाली पेट निर्जला व्रत रखने की बजाय फलाहार के साथ व्रत रखने की सलाह देते हैं।

दूध पीना पसंद नहीं है? कैल्शियम की कमी पूरी करेंगे ये 11 फूड्स

माइग्रेन के रोगी

अगर आपको माइग्रेन है तो खाली पेट रहना आपके लिए खतरनाक हो सकता है। माइग्रेन का दर्द खाली पेट होने पर बढ़ जाता है और इसलिए इन्हें निर्जला व्रत रखने की सलाह डॉक्टर नहीं देते हैं।

हर दसवें शख्स को है थायराइड की समस्या, जानिए इसके लक्षण, कारण और बचाव

डाइबिटीज रोगी

डाइबिटीज के रोगियों को व्रत रखने से बचना चाहिए, खासकर निर्जला व्रत और बिना कुछ खाए-पिए व्रत रखना उनकी सेहत के लिए अच्छा नहीं होता है। ज्यादा देर तक भूखे रहने से डाइबिटीज रोगियों का शुगर लेवल बिगड़ सकता है। कुछ लोगों के ब्लड में शुगर की मात्रा कम हो जाती है और उन्हें कमजोरी, चक्कर आने लगता है। वहीं कुछ लोगों का ब्लड शुगर बढ़ जाता है, इसलिए व्रत के दौरान नियमित रूप से ब्लड शुगर की जांच करते रहें। हो सके तो निर्जला व्रत रखने की बजाय दूध-जूस, फल आदि के साथ व्रत रखें।

बढ़े हुए ब्लड शुगर को कंट्रोल करने में कारगर है तुलसी, डायबिटीज के मरीज ऐसे करें सेवन

सर्जरी के बाद

अगर किसी की कोई सर्जरी हुई है या फिर किसी बीमारी का इलाज चल रहा है तब व्रत रखने से पहले अपने डॉक्टर से बात जरूर कर लें। व्रत में भी डॉक्टर के द्वारा बताई गई दवाईयां जरूर लें, लेकिन खाली पेट किन दवाईयों को नहीं लेनी है इसकी बात भी अपने डॉक्टर से कर लें।

दिल के मरीज

दिल के मरीजों के लिए भी खाली पेट रहना ठीक नहीं है, इसलिए डॉक्टर इन्हें व्रत ना करने की सलाह देते हैं।

रोगी या हाल ही में किसी रोग से उबरे हुए

अगर आप बीमार हैं या हाल ही में किसी बीमारी से उठे हैं तब भी निर्जला व्रत रखने से आपको बचना चाहिए, क्योंकि आपका शरीर कमजोर है और ऐसे में आपको अपनी सेहत का ध्यान रखना चाहिए।

Disclaimer: लेख में उल्लिखित सुझाव केवल सामान्य जानकारी के उद्देश्य से हैं और इसे पेशेवर चिकित्सा सलाह के रूप में नहीं लिया जाना चाहिए। कोई भी फिटनेस व्यवस्था या चिकित्सकीय सलाह शुरू करने से पहले कृपया डॉक्टर से सलाह लें।

Click Mania