ye-public-hai-sab-jaanti-hai
  1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. भारत
  4. राष्ट्रीय
  5. केरल में कोरोना वायरस से 177 लोगों की मौत, सामने आए 4,723 नए मामले

केरल में कोरोना वायरस से 177 लोगों की मौत, सामने आए 4,723 नए मामले

केरल में मंगलवार को कोरोना वायरस संक्रमण से 177 मरीजों की मौत दर्ज की गई और महामारी के 4,723 नए मामले सामने आए। इसके साथ ही संक्रमण के कुल मामले बढ़कर 51,29,985 हो गए तथा मृतकों की संख्या 40,132 पर पहुंच गई।

IndiaTV Hindi Desk Edited by: IndiaTV Hindi Desk
Updated on: November 30, 2021 20:35 IST
Kerala clocks 4,723 new COVID cases, death toll crosses 40,000- India TV Hindi
Image Source : PTI केरल में मंगलवार को कोरोना वायरस संक्रमण से 177 मरीजों की मौत दर्ज की गई।

Highlights

  • केरल मेंं संक्रमण के कुल मामले बढ़कर 51,29,985 हो गए तथा मृतकों की संख्या 40,132 पर पहुंच गई है।
  • केरल मेंं अभी 43,663 मरीज उपचाराधीन हैं।
  • केरल मेंं कोविड से पीड़ित होने के बाद कुल 50,57,368 लोग ठीक हो चुके हैं।

तिरुवनंतपुरम: केरल में मंगलवार को कोरोना वायरस संक्रमण से 177 मरीजों की मौत दर्ज की गई और महामारी के 4,723 नए मामले सामने आए। इसके साथ ही संक्रमण के कुल मामले बढ़कर 51,29,985 हो गए तथा मृतकों की संख्या 40,132 पर पहुंच गई। राज्य सरकार की ओर से जारी विज्ञप्ति में यह जानकारी दी गई। राज्य में अब तक कोविड से पीड़ित होने के बाद कुल 50,57,368 लोग ठीक हो चुके हैं और अभी 43,663 मरीज उपचाराधीन हैं।

वहीं, कर्नाटक के तुमकुरु जिले में केरल के 15 नर्सिग छात्रों के कोविड-19 से संक्रमित पाए जाने के बाद मंगलवार को 'हाई अलर्ट' जारी कर दिया गया है। जिला आयुक्त ने कहा कि सभी 15 व्यक्तियों को एक क्वारंटीन सेंटर में रखा गया है और उनके स्वाब के नमूने आगे के परीक्षण के लिए बेंगलुरु भेजे गए हैं। छात्र तुमकुरु में सिद्धगंगा और वादीराज नसिर्ंग संस्थानों में पढ़ते हैं।

इस बीच लोगों को कोविड वैक्सीनेशन के लिए प्रोत्साहित करने के मद्देनजर मुख्यमंत्री पिनरायी विजयन ने कहा कि वैक्सीनेशन जैसे कोविड बचाव संबंधी उपायों का पालन नहीं करने वालों को मुफ्त उपचार की सुविधा नहीं दी जाएगी। राज्य सरकार द्वारा जारी विज्ञप्ति के मुताबिक, कोविड समीक्षा बैठक के दौरान मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकार ऐसे लोगों के उपचार का खर्च वहन नहीं करेगी जिन्होंने वैक्सीनेशन नहीं कराया और संक्रमण की चपेट में आ गए। 

मुख्यमंत्री ने कहा कि बीमारी या एलर्जी आदि के चलते वैक्सीनेशन कराने में असमर्थ लोगों को सरकारी डॉक्टर का प्रमाणपत्र पेश करना चाहिए। उन्होंने यह भी कहा कि राज्य में एक दिसंबर से 15 दिसंबर के बीच विशेष वैक्सीनेशन अभियान चलाने के लिए स्वास्थ्य विभाग को निर्देश दिए गए हैं और जिलाधिकारियों को अभियान को ध्यान में रखते हुए तैयारियां करने को कहा गया है।

elections-2022